राग गुणकली

स्वर लिपि

स्वर गंधार व निषाद वर्ज्य। रिषभ व धैवत कोमल। शेष शुद्ध स्वर।
जाति औढव-औढव
थाट भैरव
वादी/संवादी धैवत/रिषभ
समय दिन का प्रथम प्रहर
विश्रांति स्थान सा; रे१; ध१; - ध१; रे१; सा;
मुख्य अंग सा रे म प ध१ ; प ध१ म रे१ ; रे१ सा ,ध१ सा ; म प ध१ ध१ सा' ; ध१ प ध१ म ; प म रे१ सा ;
आरोह-अवरोह सा रे१ म प ध१ सा' - सा' ध१ प म रे१ रे१ सा ,ध१ सा;

विशेष - करुणा और भक्ति रस से परिपूर्ण यह प्रातः कालीन राग श्रोताओं की भावनाओं को आध्यात्मिक दिशा की और ले जाने में समर्थ है। राग दुर्गा में रिषभ और धैवत कोमल करने से राग गुणकली का प्रादुर्भाव हुआ है। धैवत कोमल इसका प्राण स्वर है जिसके बार बार प्रयोग से राग गुणकली का प्रभाव स्पष्ट हो जाता है।

यह राग, भैरव थाट के अंतर्गत आता है। गुणकली एक मींड प्रधान राग है। यह एक सीधा राग है और इसका विस्तार तीनों सप्तकों में किया जा सकता है। यह स्वर संगतियाँ राग गुणकली का रूप दर्शाती हैं -

,ध१ ,ध१ सा ; रे१ रे१ सा ; रे१ म ; म म प म ; प प ध१ म ; प म रे१ ; रे१ सा ,ध१ ,ध१ सा ; म प ध१ सा' ; सा' रे१' सा' ध प ; रे१' सा' ध१ प ; ध१ म प ध१ ; म रे१ सा;


राग गुणकली की बन्दिशें - ये बन्दिशें आचार्य विश्वनाथ राव रिंगे 'तनरंग' द्वारा रचित हैं और भविष्य में उनकी अगली पुस्तक में प्रकाशित की जाएंगी। अधिक जानकारी के लिये कृपया हमें सम्पर्क करें

1 बडा ख्याल - अरज सुनो हे करतार
ताल - एकताल विलम्बित
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
2 बडा ख्याल - मोरे मन राम
ताल - तिलवाडा
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
3 सादरा - हे करतार जग के पालनहार
ताल - झपताल (मध्य लय)
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
4 सादरा - पार ना पायो संगीत कला
ताल - झपताल (मध्य लय)
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
5 सादरा - लाज ना आये
ताल - झपताल (मध्य लय)
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
6 ख्याल (मध्य-लय) - भज ले रे गोपाल
ताल - झपताल (मध्य लय)
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
7 ख्याल (मध्य-लय) - प्रथम पुरुष आविनाशी
ताल - झपताल (मध्य लय)
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
8 छोटा ख्याल - आई आई आई री तेज पुंज रवि किरणे
ताल - एकताल द्रुत
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
9 छोटा ख्याल - तारो भव सागर सोँ
ताल - एकताल द्रुत
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
10 छोटा ख्याल - गिरना नही अनृत छल डगरी
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
11 छोटा ख्याल - काहे ना हरि गुन गावे
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
12 छोटा ख्याल - ले लो पतवार गरीब नवाज
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
13 छोटा ख्याल - मनुवा हरि चरणन चित धरिये
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
14 छोटा ख्याल - निर्गुण निराकार तू
ताल - एकताल द्रुत
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
15 छोटा ख्याल - मान ले रे मोरी कही
ताल - एकताल द्रुत
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
16 छोटा ख्याल - सुमिर साहेब को नाम
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
17 छोटा ख्याल - अनुपम सुख ऊपजो धुन सुन
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
18 सरगम - ध प म रे सा
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे


राग गुणकली - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
बडा ख्याल - मोरे मन राम, ताल - एकताल विलंबित
छोटा ख्याल - सुमिर साहेब को नाम, ताल - त्रिताल