राग कलावती

स्वर लिपि

स्वर रिषभ और मध्यम वर्ज्य। निषाद कोमल। शेष शुद्ध स्वर।
जाति औढव - औढव
थाट खमाज
वादी/संवादी पंचम/षड्ज
समय मध्य रात्री
विश्रांति स्थान ग ध - ध ग
मुख्य अंग सा ग प ध ; प ध नि१ ध ; ध प ; ग प ध सा' नि१ ; ध नि१ सा' ; नि१ प ; ध ग ; प ग सा' ; ,नि१ ,ध सा ;
आरोह-अवरोह सा ग प ध नि१ सा' - सा' नि१ ध प ग प ग सा ; ,नि१ ,ध सा ;

विशेष: राग कलावती एक बहुत ही मधुर और सरल राग है। इसके पूर्वांग में रिषभ और मध्यम वर्ज्य होने से अधिक सावधानी की आवश्यकता होती है। यह स्वर संगतियाँ राग कलावती का रूप दर्शाती हैं -

सा ग प ध ; ग प ध ; प ध प सा' ; नि१ ध ध नि१ ध प ; ग प ध ग प ग सा ; ,नि१ ,ध सा


राग कलावती की बन्दिशें - ये बन्दिशें आचार्य विश्वनाथ राव रिंगे 'तनरंग' द्वारा रचित हैं और भविष्य में उनकी अगली पुस्तक में प्रकाशित की जाएंगी। अधिक जानकारी के लिये कृपया हमें सम्पर्क करें

1 बडा ख्याल - गोरे गोरे मुख पर
ताल - एकताल विलम्बित
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
2 बडा ख्याल - पिया घर आए ना
ताल - एकताल विलम्बित
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
3 ख्याल मध्य लय - परदेस ना जा सैयाँ
ताल - झपताल मध्य लय
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
4 ख्याल मध्य लय - साधना कर सुर की
ताल - झपताल मध्य लय
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
5 ख्याल मध्य लय - तुम बिन कलना परे
ताल - झपताल मध्य लय
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
6 ख्याल मध्य लय - घरी पल छिन मोरी पलकन
ताल - झपताल मध्य लय
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
7 छोटा ख्याल - दरस की आस जागी तोरे
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
8 छोटा ख्याल - गोपाल गिरिधर नन्द दुलारे
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
9 छोटा ख्याल - कैसे कैसे मनाऊँ सजनवा
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
10 छोटा ख्याल - साजना तोरे बिन
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
11 छोटा ख्याल - सौतन संग बिरमाये
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
12 छोटा ख्याल - सुनियो अरज हमारी
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
13 छोटा ख्याल - तुम बिन कलना परे
ताल - एकताल द्रुत
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
14 छोटा ख्याल - झिमक झिमक बरसे बूंदरिया
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
15 छोटा ख्याल - कलना परे मैको
ताल - त्रिताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे
16 सरगम - नि नि सा नि ध प ध
ताल - आडा चौताल
गायक - श्री प्रकाश विश्वनाथ रिंगे